गुलाम वंश का संस्थापक कौन था ?

  • गुलाम वंश का संस्थापक कौन था

  • गुलाम वंश का संस्थापक कुतुबुद्दीन ऐबक था।

  • कुतुबुद्दीन ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना कब की

  • कुतुबुद्दीन ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना 1206 में किया।

    कुतुबुद्दीन ऐबक किसका दास था
    कुतुबुद्दीन ऐबक मोहम्मद गौरी का दास था।
    मोहम्मद गौरी की मृत्यु कब हुई
    मोहम्मद गौरी की मृत्यु 1206 ईस्वी में हुई।

  • कुतुबुद्दीन ऐबक की राजधानी क्या थी

    कुतुबुद्दीन ऐबक ने लाहौर को अपनी राजधानी बनाया।

    कुतुब मीनार की स्थापना किसने की।

    कुतुबुद्दीन ऐबक ने क़ुतुब मीनार प्रारंभ करवाया।

    अजमेर में डाई दिन का झोपड़ा किसने बनवाया

    अजमेर में डाई दिन का झोपड़ा कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनवाया।

    कुतुबुद्दीन ऐबक का उत्तराधिकारी कौन बना

    इल्तुतमिश कुतुबुद्दीन ऐबक का उत्तराधिकारी बना।

    कुतुबुद्दीन ऐबक का शासन काल क्या था।

    कुतुबुद्दीन ऐबक ने 1206 से 1210 ईस्वी तक शासन किया।

  • वास्तविक रुप से दिल्ली सल्तनत का प्रथम शासक किसे माना जाता है।

    वास्तविक रुप से हिंदू जिसको दिल्ली का प्रथम सुल्तान माना जाता है क्योंकि उसने बगदाद के खलीफा से 1229 में सुल्तान पद का प्रमाण पत्र प्राप्त किया। खलीफा के इस स्वीकृति से सुल्तान के पद को वंशानुगत बनाने में सहायता मिली।

    कुतुबुद्दीन ऐबक की मृत्यु के बाद किसे  शासक बनाया गया।

    कुतुबुद्दीन ऐबक की मृत्यु के बाद उसके अयोग्य  पुत्र आराम शाह को गद्दी पर बैठाया गया लेकिन उसकी अयोग्यता के कारण तुर्क सरदारों ने उसे गद्दी  से हटा दिया।

  • 40 गुलाम सरदारों का संगठन किसने बनाया।

    इल्तुतमिश ने 40 गुलाम सरदारों का एक संगठन बनाया जिसे तुर्कान ए चहलगानी नाम दिया गया।

    इल्तुतमिश के दो प्रबल शत्रु कौन थे।

    इल्तुतमिश के दो प्रबल शत्रु एल्दौज और नसीरुद्दीन कुबाचा थे।

    इल्तुतमिश की मृत्यु कब हुई

    1236 में बीमारी के कारण इल्तुतमिश की मृत्यु हो गई।

  • शुद्ध अरबी सिक्के चलाने वाला पहला तुर्क सुल्तान कौन था?

    शुद्ध अरबी सिक्के चलाने वाला पहला तुर्क सुल्तान इल्तुतमिश था।

    गुलाम वंश की राजधानी को लाहौर से दिल्ली किसने स्थानांतरित किया।

    इल्तुतमिश ने राजधानी को लाहौर से दिल्ली स्थानांतरित किया।

    इक्ता प्रथा का प्रचलन किसने किया।

    इल्तुतमिश ने इक्ता व्यवस्था का प्रचलन 1226 ई. में किया।

    इक्ता व्यवस्था क्या थी।

    सैनिकों तथा राज्य अधिकारियों को वेतन के बदले भूमि देने की व्यवस्था ही इक्ता प्रथा थी।

  • इक्ता प्रथा का अंत किसने किया।

    इक्ता प्रथा का अंत अलाउद्दीन खिलजी ने किया।

    रजिया सुल्तान कौन थी

    रजिया सुल्तान सल्तनत काल की प्रथम महिला शासिका थी।

    रजिया सुल्तान इल्तुतमिश की पुत्री थी।इल्तुतमिश के बड़े बेटे की अल्पायु में ही मृत्यु हो जाने के कारण इल्तुतमिश ने रजिया सुल्तान को अपना उत्तराधिकारी नियुक्त किया।

  • रजिया सुल्तान का शासन काल क्या था।

    रजिया सुल्तान का शासन काल 1236 1240 ईसवी तक था।सत्ता पर अपनी पकड़ बनाने के बाद रजिया सुल्तान ने पुरुषों का वेश धारण करना पसंद किया। दरबार में बिना पर्दे के आने लगी।

    रजिया सुल्तान का विवाह किसके साथ हुआ।

    रजिया सुल्तान का विवाह अल्तूनिया के साथ हुआ।

    रजिया की हत्या कब हुई।

    माना जाता है कि कुछ डाकुओं के बारे में हरियाणा के कैथल में रजिया और अल्तूनिया की 1240 में हत्या कर दी गई।

  • गयासुद्दीन बलबन कौन था।

    गयासुद्दीन बलबन सल्तनत काल का क्रूर शासक था। गयासुद्दीन बलबन ने सुल्तान को धरती पर जिल्ले इलाही (ईश्वर की छाया) बताया।

    बलबन का शासन काल क्या है।

    बलबन का शासन काल 1266 से 1287 ई. तक माना जाता है।

    सिजदा और पैबोस का प्रारंभ किसने करवाया।

    बलबन ने सुल्तान के सम्मान में सिजदा और पैबोस का प्रारंभ करवाया।

  • सिजदा और पैबोस क्या है।

    बलबन ने सुल्तान के सम्मान में ईरानी प्रथा  सिजदा एवं पैबोस का प्रारंभ करवाया, सिजदा से तात्पर्य सुल्तान के सामने घुटनों के बल झुक कर उसको तीन बार सलाम करना और पैबोस से तात्पर्य उसके कदमों को चुमने से है, दरबारियों और आगंतुकों के लिए यह अनिवार्य था कि वे इस प्रकार सुल्तान का अभिवादन करें।

    तुर्गान ए चहलगानी को किसने समाप्त किया।

    तुर्गान ए चहलगानी को बलबन ने समाप्त किया।

  • मंगोलों का सफलतापूर्वक दमन करने वाला गुलाम वंश का शासक कौन था।

    बलबन ने मंगोलों के आक्रमण का सफलतापूर्वक दमन किया। मंगोलों के आक्रमण का दमन करने के क्रम में ही उसके पुत्र और उत्तराधिकारी मोहम्मद खान की मौत हो गई थी।

    बलबन सुल्तान बनने से पहले किसका वजीर था।

    बलबन सुल्तान बनने से पहले नसरुद्दीन मोहम्मद का वजीर था।

  • गुलाम वंश का संस्थापक कौन था

  • गुलाम वंश का संस्थापक कुतुबुद्दीन ऐबक था।

  • कुतुबुद्दीन ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना कब की

  • कुतुबुद्दीन ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना 1206 में किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *