हमारी हिंदी

भाषा यह हिंदी हमारी

लगती हमको सबसे प्यारी

भारत की है शान

हम करें इसका सम्मान

असम हो या गुजरात

सब करते इस भाषा में बात

दिन प्रतिदिन समृद्ध होती जाती

नित नित ज्ञान का प्रकाश फैलाती

जाति, क्षेत्र के बंधन को तोड़ती

भाषा यह दिलों को जोड़ती

वैज्ञानिकता से है परिपूर्ण

ज्ञान देती है संपूर्ण

पंजाब हो या बिहार

करते हैं सब इसे स्वीकार

हिंदुस्तान को समृद्ध बनाती

सबको गौरव है दिलाती

हिंदी भाषा है बेजोड़

नहीं इसका कोई तोड़

ज्ञान का प्रकाश फैलाती

अज्ञान के अंधकार को मिटाती

जयशंकर, प्रेमचन्द है इसके नक्षत्र

हिंदी की महिमा फैले सर्वत्र

जननी है इसकी संस्कृत

जो करती हमको परिष्कृत

हिंदी है भारत का आधार

आओ करें इसका प्रचार

जनमानस की है भाषा

गाती है भारत की गाथा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *