हमारे नेतागण इस तरह से पार्टियां बदल रहे हैं कि इतनी तेजी से तो जलवायु में भी परिवर्तन नहीं हो रहा है।

यह राजनीति तो बेवफा प्रेमिका से भी बड़ी बेवफा निकली। न जाने कब जमींदार को चौकीदार बना दे पता ही नहीं चलता है। साइड बदलते ही नेताजी दानव से देवता … Read More

सल्फ्यूरिक अम्ल से श्रृंगार रस तक का सफर!

माता कहती हैं कि बच्चा डॉक्टर बनेगा लेकिन पिता कह रहा है कि बच्चा इंजीनियर बनेगा। मैं कहता हूं बच्चे को पहले पेट से बाहर आ जाने दो उससे भी … Read More

इसमें कोई आश्चर्य नहीं यदि कहा जाए कि यूपी बोर्ड के परीक्षा में नकल बंद होने से रोजगार में भी कुछ कमी आई है।

जब से उत्तर प्रदेश के बोर्ड एग्जाम में तीसरी आंख ने अपना पहरा डाला है लगता है परीक्षा की पूरी रौनक ही समाप्त हो चुकी है। पहले परीक्षा के दौरान … Read More

यदि आप अपनी जिह्वा पर नियंत्रण कर पाए तो इनसे कुछ दूरी बनाने में ही अच्छा है

सड़क के किनारे नाली के उस पार एक छोटा सा स्टाल था। स्थान गंदगी से परिपूर्ण प्रतीत हो रहा था। मच्छर और मक्खी भिनभिना रहे थे। चार पांच लोग अपने-अपने … Read More

यही कारण है कि आलिया को कालिया का आलिंगन करना पड़ रहा है।

यदि नाक टेढ़ी हो तो ₹100000 बढ़ाकर दे देने से नाक सीधी हो जाती है और वह भी बिना ऑपरेशन के। रंग तुरंत सांवले से गोरा भी हो जाता है। … Read More

चलो लोकतंत्र को बचाते हैं !

लगता है हाथ में तिरंगा और संविधान लेकर लोकतंत्र को अपमानित करने का नया प्रचलन चल पड़ा है। कुछ मुट्ठी भर लोग यह तय करने चल पड़े हैं कि भारत … Read More

मुझे पूर्ण आशा है कि आप जल्द ही सुधर जाएंगे।

आज भी बनारस की वह गली बड़े अच्छे से याद हैं जिस दिन यदि मेरे साइकिल की गति थोड़ी कम होती तो कूड़ा नाली में न जाकर सीधे मेरे सिर … Read More

थूकिस्तान मत बनाओ हिन्दुस्तान को!!!

रेलवे क्रॉसिंग बंद होने के कारण जब मेरा सुपर स्प्लेंडर रुका तो सड़क पर पैर रखने का साहस नहीं हुआ। शहर के सभ्य लोगों ने मुंह से ना जाने क्या-क्या … Read More

विश्वविद्यालयों में पढ़ाई या लड़ाई

JNU के हालिया घटनाक्रम को देखकर लगता है कि विश्वविद्यालय अब पढ़ाई नहीं बल्कि लड़ाई और राजनीति के अड्डे बन चुके हैं। विद्रोह और गुंडागर्दी करके अपनी देशभक्ति प्रदर्शित की … Read More

नौकरी प्राप्त कर लेने वाले को पुनः आरक्षण क्यों!

आरक्षण की यह आग करेगी सबका विनाश हकदार को मिल नहीं पाता धनवान इसका लाभ उठाता पिछड़े वर्ग में ही एक को उच्च बनाता दूसरा पाताल में दबता जाता संपन्न … Read More