सेन वंश का इतिहास

सेन वंश का शासन बंगाल में पाल वंश के पतन के पश्चात स्थापित हुआ. सेन वंश बारहवीं शताब्दी  के अंत में बंगाल में अस्तित्व में आया.   सेन वंश के शासकों का मूल उत्पत्ति स्थल कर्नाटक बताया जाता है।

ऋग्वेद में गंगा नदी का उल्लेख कितनी बार हुआ है

किस प्राचीन ग्रन्थ में पत्नी को अर्धांगिनी कहा गया है

अशोक के अभिलेखों को सर्वप्रथम किसने पढ़ा।

देवपाल के समय से कुछ पाल सम्राटों ने कर्नाटक से संबंध रखने वाले कुछ लोगों को अधिकारियों के पदों पर नियुक्त किया था। कालांतर में कर्नाटक से संबंध रखने वाले यह अधिकारी शासक बन गए और स्वयं को राजपुत्र बताने लगे। सेन वंश का संस्थापक सामंत सेन था।

सेन शासकों की राजधानी वर्तमान में बंगाल का नदिया जिला था।

इस वंश के प्रथम शासक सामंत सेन ने दक्षिण के एक शासक राजेंद्र चोल को परास्त कर अपनी प्रतिष्ठा में वृद्धि की थी।
विजय सेन सेन वंश का प्रथम स्वतंत्र शासक था जिसने विक्रमपुर में अपनी राजधानी स्थापित की तथा मदनपाल को पराजित करके गौड़ पर अधिकार कर लिया।
विजय सेन ने गहड़वालों से युद्ध किया तथा उसने उड़ीसा पर भी आक्रमण किया। विजय सेन ने बंगाल पर लगभग 60 वर्षों तक शासन किया। विजयसेन ने देवपाड़ा में प्रदुम्नेश्वर मंदिर (विशाल शिव मंदिर) की स्थापना की थी।

विजयसेन के बाद उसका पुत्र बल् लाल सेन शासक बना। बलालसेन ने अपने पिता से प्राप्त साम्राज्य को अखंड बनाए रखा। बल्लाल सेन ने दानसागर तथा अद्भुत सागर नामक दो ग्रंथों की रचना की थी।

बल्लाल सेन के बाद लक्ष्मण सेन शासक बना। लक्ष्मण सेन को कई आक्रमणों का सामना करना पड़ा है। लक्ष्मण सेन के राज्य पर कुतुबुद्दीन ऐबक के सेनानायक बख्तियार खिलजी ने भी आक्रमण किया। विश्वप्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय को नष्ट करने वाला बख्तियार खिलजी ही था जिसने वहां के पुस्तकालय में आग लगा दी और पुस्तकालय कई दिनों तक जलता रहा। लक्ष्मण सेन के समय में ही सेन वंश का पतन प्रारंभ हो गया था।

लक्ष्मण सेन का शासनकाल साहित्यिक गतिविधियों के उत्थान के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण माना जाता है। गोविंद के लेखक जयदेव लक्ष्मण सेन के दरबार में रहते थे। पवनदूत के लेखक धोयी एवं ब्राह्मणसर्वस्व के रचनाकार हल आयुध भी लक्ष्मण सेन के दरबारी थे। स्वयं लक्ष्मण सेन ने अपने पिता के अधूरे ग्रंथ अद्भुत सागर को पूर्ण किया था।
हलायुद्ध लक्ष्मण सेन का प्रधान न्यायाधीश एवं मुख्यमंत्री था।

सेन राजवंश से संबंधित एक महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि सेन राजवंश भारत का पहला राजवंश था जिसने अपना अभिलेख हिंदी में उत्कीर्ण करवाया। यह हिंदी आज की तरह परिष्कृत नहीं बल्कि अप भ्रंश का एक रूप था।

 

हल्दीघाटी का युद्ध (1576)

पानीपत का द्वितीय युद्ध (5 नवंबर 1556)

पानीपत का तृतीय युद्ध(1761)

वांडीवाश का युद्ध (1760)

बक्सर का युद्ध( 22 अक्टूबर 1764 ई.)

नूरजहां कैसे बनी मुगल काल की सबसे ताकतवर महिला

संथाल विद्रोह (1855-56)-

सन्यासी विद्रोह (1770-1800)

मोपला विद्रोह या मालाबार विद्रोह (1921-1922)

तैमूरलंग का भारत पर आक्रमण और नरसंहार का वह भयावह दृश्य।

तेलंगाना राज्य कब बना था

सत्यमेव जयते किस उपनिषद से लिया गया है।

प्रथम गोलमेज सम्मलेन कब हुआ

कांग्रेस का विभाजन नरम दल एवं गरम दल में कब हुआ।

गंडक नदी का प्राचीन नाम क्या है

महात्मा गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष कब बने।

DMK के संस्थापक कौन है

महाभिनिष्क्रमण क्या है

हरिहर एवं बुक्का कौन थे।

गौतम बुद्ध का उपदेश किस भाषा में है

रेहला पुस्तक किसने लिखा है।

बुद्ध के प्रथम पांच शिष्यों का क्या नाम था?

हिंदी दिवस कब मनाया जाता है।

सल्फ्यूरिक अम्ल से श्रृंगार रस तक का सफर!

विश्व स्तनपान दिवस (Breastfeeding day) कब मनाया जाता है।

आगरा शहर की स्थापना किसने की थी।

नूरजहां कौन थी

तालीकोटा का युद्ध कब हुआ था?

रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक कौन है

विश्व जल संरक्षण दिवस कब मनाया जाता है।

विश्व नर्स दिवस कब मनाया जाता है।

Byjus के संस्थापक कौन है

अशोक के अभिलेखों को सर्वप्रथम किसने पढ़ा।

दिल्ली दरबार का आयोजन कब किया गया।

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.